झारखंड की बेटी पर दिल्ली में ज़ुर्म की इन्तहां

दिल्ली की एक महिला डाक्टर ने झारखंड की 14 साल की बच्ची को कैंची से आंख में भोंका, गर्म आयरन से हाथ जलाया, चेहरे पर थूकी और 4 माह तक घर में नौकरानी बनाकर ऱखा लेकिन कभी भरपेट खाना नहीं दिया।

FB_IMG_1515875741699.jpgबच्ची के पूरे शरीर पर चोटें, खरोंचें हैं और जलाए जाने के निशान हैं। लड़की गंभीर रूप से कुपोषित है। पागल डाक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मॉडल टाउन में एक घर में इस लड़की को बंधक बनाया गया था। एक पड़ोसी ने फोन करके आयोग को इसकी सूचना दी जिसके बाद आयोग ने कार्रवाई की।

आयोग के महिला हेल्पलाइन 181 पर शुक्रवार को फोन आया जिसमें सूचना दी गई। इसके बाद तुरंत दिल्ली महिला आयोग की एक टीम दिल्ली पुलिस के साथ दिए गए पते पर पहुंची और उस बच्ची को कैद से मुक्त कराया।

पीड़ित लड़की ने बताया कि उसकी मालकिन एक डॉक्टर है और उसकी वित्तीय स्थिति बहुत अच्छी है। उसकी मालकिन उसको गर्म प्रेस से जलाती थी और उसके ऊपर गर्म पानी भी फेंकती थी। 

उस पर अत्याचार होते थे। उसके चेहरे पर काटने के भी निशान हैं। लड़की ने बताया कि उसकी मालकिन गुस्से में उसको काटती थी। 

मालकिन ने उसकी आंखों पर कैंची से भी वार किया था जिसकी वजह से उसकी आंखें सूज गई हैं और आंखों पर चोट के निशान बने हुए हैं।

लड़की ने बताया कि मालकिन ने कई बार उसका गला भी दबाया. यहां तक कि 1 दिन पहले गुस्से में उसके ऊपर बैठ गई और कई बार उसके सर पर वजन तौलने वाली मशीन से वार किए। 

बच्ची ने बताया कि कई बार उसको कई दिनों तक खाने को नहीं दिया जाता था। खाने के नाम पर उसको 2 दिन में दो बासी रोटी दी जाती थीं. लड़की बुरी तरह से कुपोषण की शिकार है। 

उसकी मालकिन इतनी सर्दी में भी उसको स्वेटर नहीं पहनने देती थी और रात में ओढ़ने को कम्बल भी नहीं देती थी।

इसपर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने कहा है कि “लड़की की हालत देखकर मैं बहुत ही दुखी हूं।

उसकी हालत शब्दों में बयान करने लायक नहीं है। वह एक हड्डियों का ढांचा मात्र रह गई है। मुझे यह समझ नहीं आता कि एक महिला डॉक्टर इतनी अमानवीय कैसे हो सकती है। 

केवल शिक्षा और पैसा होने से कोई मनुष्य नहीं हो जाता। इस महिला को अधिकतम सजा मिलनी चाहिए। इसी बीच मुख्यमंत्री रघुवर दास ने ट्वीट कर हरसंभव मदद का भरोसा दिया है।

“दिल्ली महिला आयोग इस लड़की की पूरी सहायता करेगा और इसको ठीक से इलाज करवाने, इसको मुआवजा दिलवाने और इसके परिवार से मिलवाने में बच्ची की मदद करेगा “-स्वाति जयहिंद- दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s